Powered by Blogger.
  • Home
  • फैक्ट एनालिसिस- गाजर

    गाजर विटामिन ए का भंडार है। विटामिन ए नेत्रों की सेहत के लिए और त्वचा रोगों से बचाव में सहायक है। गाजर में बी ग्रुप के विटामिंस पाए जाते है। गाजर शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाती है। इसमें कैरोटिन, कैल्शियम और फास्फोरस और गंधक जैसे अन्य स्वास्थ्यकर तत्व भी पाए जाते है। गाजर रक्त को साफ करती है।
    माइनस प्वाइंट
    जिन लोगों के पेट में गैस बनती है, उन्हे गाजर से परहेज करना चाहिए। इसी तरह गाजर के मध्य में स्थित पीले भाग को भी न खाएं। ऐसा इसलिए, क्योंकि पीले भाग के खाने से खांसी होने की आशंका बढ़ जाती है। यहीं नहीं गाजर खाने के तुरंत बाद पानी भी न पिएं। तुरंत पानी पीने से खांसी की शिकायत पकड़ सकती है।
    सजेशन
    जिन लोगों को पेट में गैस बनने की शिकायत हो, उन्हे गाजर का रस या सूप ग्रहण करना चाहिए। इसी तरह यदि गाजर खाने से पेट में दर्द हो, तो गुड़ खाना चाहिए। गुड़ खाने से दर्द ठीक हो जाता है। वरिष्ठ आयुर्वेद चिकित्सक डॉ. सतीश चंद्र शुक्ला के अनुसार जो लोग रतौंधी से ग्रस्त है, उन्हे मौजूदा मौसम में पर्याप्त मात्रा में गाजर का सेवन करना चाहिए। इसी तरह जो लोग त्वचा रोगों से पीड़ित है, उनके लिए भी गाजर का सेवन विशेष रूप से लाभप्रद है। जागरण
    Share this article :

    Total Pageviews